Entertainment

TRP क्या है ? TRP की पूरी जानकारी।

TRP क्या है ? कैसे मापी जाती है। और इसका किस पर क्या प्रभाव पड़ता है सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी मे।

TRP क्या होती है ?

TRP नाम तो सुना ही होगा इसे ( Television rating point ) कहते है और TRP से आप यह पता लगा सकते है कि कौनसा TV चैनल लोग कितनी बार और कितने समय के लिए देख रहे है। यानी इसके जरिए किसी भी TV चैनल की लोकप्रियता को समझने मे हमको मदद मिलती है।

TRP बताने वाला कौन है और कैसे मापी जाती है ?

broadcast audience research council india
broadcast audience research council india

TRP बताने वाली एक संस्था है जिसका नाम ( B.A.R.C ) broadcast audience research council India लेकिन इसके अलावा कुछ अन्य कंपनिया भी है जो Television rating point पर रिसर्च करने का काम करती है।Hansa Research, INTAM (Indian Television Audience Measurement), DART (Doordarshan Audience Research Team) ये सभी कंपनिया बताती है कि किस TV चैनल की कितनी TRP है।

और ये सब मापने के लिए ये कंपनिया हमारे टीवी के साथ लगने वाले सेटअप बॉक्स के साथ पीपल मीटर डिवाइस (People Meter Device ) को लगा देती है। जिसे BAR-O Meter मीटर भी कहा जाता है।

अब जब भी आप टीवी देखते है तो पीपल मीटर डिवाइस ये रीडिंग लेता है कि आप किस टीवी चैनल को कब और कितनी देर तक देख रहे है। और ये डाटा पीपल मीटर से लेकर रिसर्च कंपनियो के पास भेज दिया जाता है।

बस इसी से B.A.R.C अनुमान लगाकर सभी टीवी चैनल की TRP तैयार कर देता है।

जिसे आप BARC की वेबसाईट पर जाकर देख सकते है। लेकिन पीपल मीटर डिवाइस देश के सभी घरों मे नहीं लगे हुए है। ये कुछ ही घरों मे लगाए जाते है। मान लीजिये आपके पड़ोस मे 30 घर है तो हो सकता है कि उनमे से 3 ही घरों मे पीपल मीटर लगा हो।

देश मे पीपल मीटर डिवाइस कहा-कहा लगे हुए है ?

people meter device
पीपल मीटर डिवाइस

पूरे देश मे लगभग 44,000 पीपल मीटर डिवाइस लगे हुए है। लेकिन कहा-कहा और किन घरों मे लगे हुए है यह जानकारी BARC व अन्य रिसर्च करने वाली कंपनियो के द्वारा गुप्त रखी गई है।

क्युकी अगर किसी टीवी चैनल वालों के यह पता चल गया कि पीपल मीटर डिवाइस कहा-कहा और किस घर मे लगे हुए है तो टीवी चैनल वाले उस घर जाकर टीवी देखने वाले व्यक्ति को पैसे देकर अपने टीवी चैनल को लगातार देखने की मांग कर सकते है।

जिससे अमान्य तोर पर उसकी TRP बढ़ सकती है।

TRP से टीवी चैनलो पर क्या प्रभाव पड़ता है।

TRP effect
TRP का प्रभाव

इसका प्रभाव सभी चैनलो पर गहरा पड़ता है चाहे वह किसी भी वर्ग का हो। अगर किसी चैनल की TRP अन्य टीवी चैनल की तुलना मे कम तो ऐड देने वाले कंपनीया उस चैनल को कम पैसे देगी अपनी ऐड चलाने के लिए

जिससे उस टीवी चैनल को चलने मे समस्या आएगी क्युकी उसकी कमाई TRP के कारण कम है।

वही अगर किसी टीवी चैनल की TRP हाई है तो उसी कंपनी को वही ऐड चलाने के ज्यादा पैसे देने होंगे जिससे वह चैनल ज्यादा पैसे कमाएगा। तो अब आप ही सोचिए पड़ा ना प्रभाव टीवी चैनल पर।

Television rating point से पैसे कैसे कमाते है टीवी चैनल।

How to earn money from TRP
TRP से पैसे कैसे कमाते है टीवी चैनल ?

आपको पता है कि सभी टीवी चैनल पर शो कम और विज्ञापन ज्यादा दिखाए जाते है। और सभी टीवी चैनल विज्ञापन से ही पैसा कमाते है। यानि जितनी ज्यादा हाई TRP उतने ज्यादा विज्ञापन और उतनी ही ज्यादा कमाई।

Television rating point बढ़ने पर टीवी चैनल की ज्यादा कमाई होती है।

क्या अलग-अलग टीवी चैनल की अलग-अलग TRP होती है।

TRP Rating List
TRP रेटिंग लिस्ट

हा बिल्कुल अलग-अलग टीवी चैनल की अलग-अलग TRP होती है। अगर कोई न्यूज चैनल है तो उसकी अलग होगी

और कोई धारावाहिक चैनल है तो उसकी अलग होगी। सभी टीवी चैनलो की TRP ग्रामीण व शहरी वर्ग के अनुसार अलग-अलग बाटी गई है।

किसी भी टीवी चैनल के Television rating point कैसे देखे।

किसी भी टीवी चैनल के Television rating point देखने के लिए आपको B.A.R.C की वेबसाईट पर जाना होगा वेबसाईट पर जाने के लिए गूगल पर टाइप करे barcindia.co.in और सर्च करे

अब आपके सामने B.A.R.C का डेशबोर्ड खुल जाएगा TRP देखने के लिए WEEKLY DATA टैब पर क्लिक करे आपके सामने टॉप 10 चैनलो के Television rating point दिख जायेगे।

BARC dashboard
BARC डेशबोर्ड

किसी टीवी चैनल कि TRP कैसे बढ़ती है।

किसी टीवी चैनल Television rating point बढ़ने के पीछे का कारण ( दशर्क ) यानि हम सब टीवी देखने वाले होते है। अगर किसी एक टीवी चैनल को लोग बार बार और ज्यादा समय के लिए देखते तो उस टीवी चैनल के Television rating point बढ़नेलगते है। इसीलिए ज्यादातर हाई TRP न्यूज चैनल्स की होती है। क्युकी हम न्यूज चैनल को बार-बार और ज्यादा देर तक देखते रहते है।

TRP बढ़ने पर टीवी चैनलो को पैसे कौन देता है।

Who gives money to tv channels?
टीवी चैनलो को पैसा कौन देता है ?

TRP बढ़ने पर टीवी चैनलो को पैसा वो कंपनी देती है जो उनके चैनल पर अपना विज्ञापन दिखाना चाहती है।

HINDUSTAN LEVER LTD, RECKITT BENCKISER (INDIA) LTD, ITC LTD, GODREJ CONSUMER PRODUCTS LTD, CADBURYS INDIA LTD,

PROCTER & GAMBLE, PONDS INDIA, COLGATE PALMOLIVE INDIA LTD, PROCTER & GAMBLE HOME PRODUCTS, COCA COLA INDIA LTD

ये सब कंपनिया सबसे ज्यादा टीवी चैनल पर विज्ञापन देती है। जिससे टीवी चैनल वाले पैसे कमाते है।

क्या TRP से हम पर कोई प्रभाव पड़ता है।

हां थोडा बहुत, पर कैसे? अगर किसी टीवी चैनल की TRP बढ़ती है तो उसकी आमदनी भी बढ़ती है। आमदनी बढ़ने से टीवी चैनल अपने शो पर ज्यादा पैसा खर्च करेगा यानि अपने कंटेन्ट पर ज्यादा पैसा लगाएगा अब कंटेन्ट पर ज्यादा पैसा लगने से कंटेन्ट अच्छा बनेगा।

और सबको अच्छा कंटेन्ट देखना पसंद होता है। यानि साधारण शब्दों मे किसी टीवी चैनल की TRP बढ़ने से हमे अच्छा कंटेन्ट देखने को मिलता है। अब अच्छा कंटेन्ट देखने को मिलेगा तो फायदा हमे भी होगा। जिस तरह TRP के लिए दर्शकों को कुछ भी दिखाया जा रहा है अहम मुद्दों से हटकर आप टीवी चैनल से अच्छे कंटेन्ट के उम्मीद कम करे तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

TRP स्कैम क्या होता है ?

What is TRP scam
TRP स्कैम क्या है ?

अभी जो हाल ही मे TRP स्कैम हुआ था वो तो आपको पता ही होगा जोकि ”रीपब्लिक भारत, फक्त मराठी, बॉक्स सिनेमा के द्वारा किया गया था। अब ये स्कैम कैसे हुआ था वो आपको बताते है।

रीपब्लिक भारत, फक्त मराठी और बॉक्स सिनेमा ने उन कर्मचारियो को ढूंढा जो TRP रिसर्च वाली कंपनियो मे कार्य कर रहे थे क्युकी उन्हे ही ये पता था कि रिसर्च कंपनियो ने पीपल मीटर कहा कहा और किस घर मे लगाए है।

अब पीपल मीटर कहा कहा लगे है यह पता चलने पर इन चैनलो ने उन घरों मे जाकर अपने चैनल को पैसे देकर दिन-रात बिना रुके लगातार चलाया। ऐसा करने पर इन सभी चैनलो कि TRP बढ़ने लगी। और जब BARC और अन्य रिसर्च कंपनियो को रीपब्लिक भारत, फक्त मराठी, बॉक्स सिनेमा पर शक हुआ तो उन्होंने इसकी जांच की और जांच सही पाने पर रीपब्लिक भारत, फक्त मराठी, बॉक्स सिनेमा पर FIR की गई। और अब मुंबई पुलिस इन केस की जांच कर रही है।

बैंक में पैसा जमा करना हमेशा सुरक्षित क्यों नहीं होता

faq
FAQ

कुछ सवाल जो आपके मन में हो सकते है। FAQ

TRP का फुल फॉर्म क्या है ?

Television rating pointTRP कौन तय करता है ?

BARC ( broadcast audience research council )Television rating pointकिस चैनल की कितनी है कौन बताता है ?

Hansa Research, INTAM, DART

Television rating pointकिस डिवाइस के द्वारा चेक की जाती है ?

पीपल मीटर डिवाइस ( People Meter Device)

TRP से क्या पता लगाया जाता है ?

टीवी चैनल की लोकप्रियता का।

भारत मे कुल कितने पीपल मीटर लगे हुए है ?

44,000के लगभगपीपल मीटर का दूसरा नाम क्या है ?

BAR-O Meters

INTAM की फुलफॉर्म क्या है ?

Indian National Television Audience Measurement

DART की फुलफॉर्म क्या है ?

Door darshan Audience Research Team

उम्मीद है आपको ये Television rating point यानि TRP का खेल समझ आ गया होगा। अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमसे पुछ सकते है। हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगे हमे कमेन्ट कर जरूर बताए।

Leave a Reply

Back to top button