SEO

SEO क्या है? वेबसाईट और ब्लॉग का Search Engine के लिए कैसे optimize करते हैं?

SEO यानि की Search Engine Optimization, जिसका मतलब है की किसी भी ब्लॉग, वेबसाईट या YouTube विडिओ को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पंहुचाना। इसको आसान भाषा में समझें तो जैसे की हम कुछ भी गूगल पर सर्च करते हैं, तो गूगल आपको उसके लिए कुछ result देता है। यह रिजल्ट कैसे आते हैं? Google कैसे इन वेबसाईट को समझ पाता है और ज्यादातर सबसे अच्छे उत्तर ही देता है।

जब हम किसी blog या website को Google या किसी भी अन्य search engine के समझने लायक बना देते हैं तो उसको कहते हैं Search Engine Optimization.

SEO या Search Engine Optimization क्या है?

जैसा की हमने अभी बताया किसी भी ब्लॉग या वेबसाईट को search engine के समझने के लायक बनाना ही SEO कहलाता है। जिस वेबसाईट का जितना अच्छा SEO होगा, उनकी वेबसाईट उतनी ऊपर रैंक होगी या कहें की पहले नंबर के पास रैंक होगी। SEO बहुत सी बातों पर निर्भर करता है। जैसे की ब्लॉग या वेबसाईट कितनी पुरानी है, कितने टाइम से इसके आर्टिकल रैंक हो रहे हैं, कितने लोग इस वेबसाईट पर रोज आते हैं।

Search Engine Optimization SEO क्या है
Search Engine Optimization

तब आप सोचेंगे की एक नया ब्लॉग क्या अहमियत रखता है? जबकि रैंक तो पुराने ब्लॉग या वेबसाईट होंगी लेकिन ऐसा भी नहीं है। इसके बारे में भी इस आर्टिकल में हम जानेंगे।

मान लीजिए आपने एक ब्लॉग बनाया और उसका अच्छा ऑन-पेज SEO कर दिया और उसपर अच्छे अच्छे आर्टिकल लिखे, जैसे ही आप अच्छे जानकारी से भरे आर्टिकल लिखेंगे तो कोई भी यूजर आपकी वेबसाईट पर आएगा तो वह यूजर उस आर्टिकल को पूरा पढ़ने में टाइम लगाएगा और Google इस बात को register कर लेगा। अब इसी तरह और यूजर भी आपके नए ब्लॉग पर आते हैं, और आपकी वेबसाईट को समय देते हैं तो गूगल समझ जाएगा की “भी कुछ तो बात है इस बंदे की वेबसाईट में” तो वह(Google) आपकी वेबसाईट का रैंक अच्छा करने लगता है।

लेकिन ऐसा भी नहीं है की अपने एक आर्टिकल अच्छा लिखा और बोले की मेरी वेबसाईट रैंक नहीं हो रही, या कुछ एक आर्टिकल। आपको यहां लगातार काम करना होता है। जिस से की ये पता चले की आप बहुत लंबे टिकने वाले हो, और शुरू में ही ये न कहें की ब्लॉगिंग से पैसे तो या नहीं रहे, वो भी आएंगे। क्योंकि आप उस दुनियां में हैं जहां सबर का फल मीठा होता है।

Blog या website का Search Engine के लिए Optimize कैसे करते हैं?

किसी भी Blog या website का SEO हम काफी तरीकों से कर सकते हैं जिसके 2 मुख्य तरीके हैं

  • On-Page SEO
  • Off Page SEO

On-Page SEO

इसमे हम अपने ब्लॉग या वेबसाईट के पेज को Search engine के पढ़ने और समझने लायक बनाते हैं। ये तो आप भी समझ सकते हैं की Google कोई इंसान तो है नहीं जो ये समझ सकेगा की कहाँ पर मुख्य आर्टिकल अपने लिखा है। गूगल को तो coding से ही समझ आएगा की कहां पर क्या लिखा गया है। On-Page SEO के लिए आप यह आर्टिकल पढ़ सकते हैं।

Off-Page SEO

Off-Page SEO यानि की आपके ब्लॉग से बाहर आपका ब्लॉग कितना मशहूर है। जैसे जैसे आपका ब्लॉग अच्छा और पुराना होता जाएगा आपको काफी backlink मिलने लगेंगे। यानि की दूसरी website आपके ब्लॉग का लिंक अपनी वेबसाईट में दे देती है। ये आप खुद भी किसी वेबसाईट पर guest post लिख कर अपनी वेबसाईट का लिंक दे सकते हैं।

Off-Page SEO की बात की जाए तो इसका मतलब है की आपका ब्लॉग/वेबसाईट के पास कितने backlink हैं।

Website को search engine के साथ जोड़ें

आप अपनी वेबसाईट बनाने के बाद Google Search Console के साथ जोड़ सकते हैं। जिस से आपकी वेबसाईट पर कुछ भी अपडेट करेंगे तो यह गूगल को उसी टाइम पता चल जाएगा जिस से वेबसाईट रैंक होगी और blog सर्च रिजल्ट में लाया जा सकता है।

Google की तरह और भी search engine हैं जैसे की माइक्रोसॉफ्ट का Bing, Yahoo, Yandex इत्यादि। तो आपको Bing, और Yandex में भी सबमिट कर सकते हैं।

अगर आप ब्लॉगिंग के अलावा YouTube पर विडिओ बनाने की सोच रहे हैं तो वहाँ भी SEO एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उसके लिए आप हमारा आर्टिकल, YouTube SEO क्या है, कैसे करते हैं, पढ़ सकते हैं।

Ashok Kumar

अशोक कुमार 2015 से Search Engine Optimization फील्ड में काम कर रहे हैं। और तब से कई सफल परियोजनाओं पर काम किया । वह seoneurons.com को अपने followers के साथ सर्वश्रेष्ठ SEO techniques वास्तविक जीवन के अनुभव को साझा करते हैं । आप WordPress, Blogger या किसी अन्य ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के लिए एडवांस लेवल एसईओ भी सीख सकते हैं।

Leave a Reply

Back to top button