Health

गिलोय के चमत्कारी फायदे giloy ke गुण और लाभ

गिलोय खाने और उबाल कर पीने के चमत्कारी औषधीय गुण और लाभ

Giloy Immunity Booster
गिलोय के फायदे

आजकल आयुर्वेदिक दवाओं का बहुत प्रयोग होने लगा है.हर कोई वेस्टर्न दवाई को छोड़कर आयुर्वेदिक प्राकृतिक दवाओं, पेड़ पौधों, कंदमूलों का उपयोग करने लगे है.पहले गिलोय केवल जंगलो – झाड़ियो में पाई जाती थी परन्तु आजकल इसे घर पर गमलो और बगीची में भे उगाने लगे है.

गिलोय का वैज्ञानिक नाम Tinospora cordifolia है। यह बेल होती है इसके पत्ते स्वाद में कड़वे और तीखे होते हैं। इसकी पत्तियों पान के पत्तों के जेसी होती है। पत्तों का रंग गाढ़ा हरा होता है। बहुत से लोग गिलोय को सजावटी पौधे के रुप में भी अपने घरों में लगाते हैं। गिलोय के पत्ते और टहनियों दोनों का औषदी के रूप में इस्तेमाल होता है.

गिलोय के फायदे (Giloy benefit and use)

गिलोय के औषधीय गुण के कारण इसको बहुत तरह के बीमारियों के लिए उपचारस्वरूप इस्तेमाल किया जाता है यह एक जड़ी बूटी है जो इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करती है।गिलोय का औषधीय प्रयोग, प्रयोग की मात्रा और तरीका का सही ज्ञान होना बहुत ज़रूरी है

1. इम्युनिटी (immunity) बढाने के लिये

गिलोय एक Natural जड़ी बूटी है जो इम्युनिटी को बढ़ाने में हमारी मदद करती है । यह एंटीऑक्सिडेंट भरपूर है जो Jerm से लड़ता है, आपके Cells को स्वस्थ रखता है, और बीमारियों से छुटकारा दिलाता है। गिलोय के जूस का हररोज सेवन इम्युनिटी को बढ़ता है यह खून को साफ करता है, बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है, शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़कर इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है।

2. डेंगू के बुखार Control करने में

डेंगू के दौरान मरीज को तेज बुखार होने लगते हैं। गिलोय में मौजूद एंटीपायरेटिक (antipyretic is a substance that reduces fever) गुण बुखार को जल्दी ठीक करते हैं।।साथ ही गिलोय इम्युनिटी बूस्टर की तरह काम करती है, जिससे डेंगू से जल्द से जल्द आराम मिलता है। डेंगू बुखार से बचने के घरेलू उपाय के रूप में गिलोय का सेवन आजकल बहुत प्रचलित है.

3.शरीर की थकान और दर्द कम करने के लिए

आप का पुरा शरीर दर्द कर रहा हो और आप को काम की थकान , चिंता, तनाव हो तो आप 100 gm पानी में गिलोय के पत्ते या टहनियो को डाल कर जब तक उबाले वो पानी 50 gm हो जाये , इसको पीने से आप के शरीर की थकान, तनाव, चिंता, दर्द कम हो जाये गा . इसमें एडाप्टोजेन रूप का एक पदार्थ है जो हमारे शरीर को तनाव से मुक्ति दिलाने में मदद करता है

4. बुखार में आरामदाय

गिलोय में एंटीपायरेटिक गुण होने के कारण ये बुखार को भी ठीक कर देते हैं। इसलिय मलेरिया, स्वाइन फ्लू और डेंगू जैसे रोगों में होने वाले बुखार से बचाव के लिए गिलोय के सेवन की सलाह दी जाती है। आप इसका daily सेवन भी कर सकते है.

5.स्किन के लिए

स्किन पर लाइनों के आने , झुर्रियां पडने,गहरी लाइनें बन जाना सबसे बड़ी समस्या है। गिलोय में एंटी एजिंग गुण के कारण यह गहरे स्पॉट्स , झुरियां, पिंपल्स या‌ मुहांसे को कम करने और हटाने में मदद करता है।

6.आखोँ और कान के लिए लाभकारी

आजकल आखों के बहुत से बिमारिया और डिसऑर्डर होते है   मोतियाबिंद और स्कलेरल  जैसी समस्याओं से भी निजात पा सकते है, कानों में दर्द होने पर गिलोय के रस को गुनगना कर के कानों में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है.

Note : गिलोय को सीमित मात्रा में , सलाह पर ही ले .

Leave a Reply

Back to top button