Technology

Dark Web क्या है ,जानिए क्यों इसको Internet की काली दुनिया कहा जाता है?

क्या आप जानते है जो इंटरनेट हम इस्तेमाल करते है वो सिर्फ 4% है पूरे इंटरनेट का जिसको हम surface web कहते है। बाकी का 96% internet, deep web और Dark web है। आप मे से बहुत कम लोगों ने इसके बारे मे सुना होगा यह(Dark web) एक अनोखी दुनिया है, जिससे बहुत से लोग अपरिचित है।आज हम उस दुनिया की बात करेंगे जो surface web से बिल्कुल अलग और खतरनाक है। Dark web को Access करने की बिल्कुल न सोचे वरना बहुत बुरे फँस सकते हो आप और यह मेरी विनती भी है आप से। यह 90% से ज़्यादा गलत काम होते है। इस आर्टिकल मे आप सीखेंगे क्या होता है Dark web, क्यों इससे काली दुनिया का इंटरनेट कहा जाता है।

dark-deep-web-kya-hai
Dark Web

Dark Web क्या है?

जितने भी सर्च इंजन है जैसे Google, Yahoo, Edge, Bing , ये सिर्फ पूरे Web का सिर्फ 4% ही Access कर पाते है । इसका मतलब इंटरनेट का बहुत बड़ा हिस्सा हमारी पहुँच से बाहर है। इंटरनेट के इस सबसे बड़े हिस्से को ही Deep Web या Dark net कहा जाता है।

Internet को तीन भागों मे बांटा गया है-

  1. Surface Web
  2. Deep Web
  3. Dark Web
  1. Surface Web- सभी लोग अपने ज्यादातर कामों के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते है जैसे shopping करना , Video देखना , Social Media का प्रयोग आदि। यह इंटरनेट surface web होता है।
  2. Deep वेब- Deep Web की sites को search engine index नहीं कर सकता। Membership login, Bank detail, Email account, social media account, cloud storage आदि सभी Deep web मे शामिल है। इनको हम नॉर्मल सर्च इंजन से सर्च नहीं कर सकते। ये एक पासवर्ड से सुरक्षित होती है।
  3. Dark Web – Internet पर जो Information है उसे हम बड़ी आसानी से अपने Browser  की मदद से Access कर सकते है। लेकिन आपको ये जानकर बड़ी हैरानी होगी की हम इंटरनेट पर जो भी चीज़े Daily Access करते है और जिसको हम बड़ी आसानी से किसी भी सर्च इंजन में सर्च कर सकते है । वो पूरे इंटरनेट का सिर्फ 4% है बाकी का 96% एक आम आदमी सर्च नहीं कर सकता।

इसका मतलब ये भी है की बाकि के 96% की internet इस “Deep Web या Dark Web” से बनी हुई होती है । Dark Web, Deep Web का ही एक हिस्सा होता है। Dark Web , internet के search engine के द्वारा index नहीं किया हुआ होता।

इस 96% internet पर दुनिया के कुछ चुनिंदा लोगों की ही पहुँच होती है। Dark Web को किसी Search engine जैसे google, yahoo द्वारा search और open नहीं किया जा सकता | एक Dark Web की वेबसाइट को एक सामान्य Browser जैसे Chrome , Opera , Firefox आदि के द्वारा Open नहीं किया जा सकता है।

इसे एक अलग Browser से open किया जाता है जिसे Tor Browser कहा जाता है | Tor Browser को Dark Web Browser भी कहा जाता है। Tor browser full form – The onion router.

Dark Web को internet की काली दुनिया कहा जाता है क्योंकि इसमे सभी illegal चीज़े होती है जैसे Drug Selling , Human trafficking Hacking , kidnapping, Murder, Pornography आदि।

Dark web पर ये सब इसलिए होता है क्यूंकी Dark web को Track करना नामुमकिन होता है। इसलिए कुछ बुरे लोगों ने इसको इसको internet की काली दुनिया बना लिया है।इसको Darknet मार्केट भी कहते है। किसी को कोई गलत काम करवाना या करना हो और अपनी पहचान भी छुपानी हो तो वो यह आते है।

इसमे एक “Red Room” होता है जहा पर लोगों को टॉर्चर किया जाता है और लोग इसको देखने के लिए पैसे देते है। ऐसा बताया जाता है की हर महीने 13लाख से जयद सब्स्क्रिप्शन लिए जाता है इसको देखने के लिए। Dark Web पर पेमेंट cryptocurrency (Bitcoin) मे दी जाती है। जो की बहुत secure होती है उसको भी trace करना बहुत मुस्किल है । हर बुरे काम के लिए cryptocurrency मे पेमेंट होती है। बोला जाता है की Illuminati भी यही बात करते है। Bitcoin क्या है और कैसे काम करता है? Complete in Hindi 2021 (oyedad.com)

मेरा निवेदन है आपसे कृपया Dark web को Access करने की सोचे भी नहीं वरना आप बुरा फँस सकते । कुछ innocent लोगों ने ऐसा करने की सोची भी थी फिर वो ऐसे trap जाल मे फंसे की, उनको इसमे से निकालना बहुत मुस्किल हो गया। internet पर इसके बारे मे बहुत सी कहानिया है कैसे लोग इसमे फँस गए। ये भी कहा जाता है यहा लोगों की पर्सनल इनफार्मेशन बेची जाती है।

बहुत बार खबरों मे आया है की इंडिया के लोगों की पर्सनल इनफार्मेशन डार्क वेब पर बेची गई। इंडिया के करोड़ों लोगों के बैंक खाते ,डेबिट कार्ड नंबर , क्रेडिट कार्ड नंबर आदि Banglore मे Justpay के एक server से लीक हुआ था। इसका खुलासा साइबर सिक्युरिटी रिसर्च राजशेखर राज हरिया ने किया था।

आपको यह जानकर हैरानी होगी की Justpay क्या करता है। Justpay ऐमज़ान,swiggy , Makemytrip जैसे E-commerce जैसे कंपनियों को पेमेंट प्रोसेसिंग देता है।

Dark Web इसके user को full privacy देता है। इस पर आप अगर कुछ भी काम करते है तो यह सिर्फ आपको मालूम होगा न कोई आपकी इनफार्मेशन देख सकता न आपको track कर सकता।

आज के दिन मे privacy बहुत बडा concern बन चुकी है आपके internet service provider के पास आपकी पर्सनल इनफार्मेशन होती है कुछ लोग नहीं चाहते उनके ऊपर किसी का कंट्रोल हो और यह सब Dark web से ही संभव है।

Dark Web की history

Dark Web की शुरुवात अमेरिकी सेना ने की उनका मकसद इसके जरिए खुफिया खबर शेयर करना था। आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाली internet की पूरी जानकारी आपके internet service provider (ISP) के पास होती है, जिसके कारण आपकी privacy सुरक्षित नहीं रह जाती।

इसी को ध्यान मे रखते हुए 1990 मे American Naval Research Laboratory ने एक प्रोजेक्ट Tor-The Union Router की शुरुआत की गई जिसका मुख्य उद्देश्य अमेरिकी खुफिया संचार को सुरक्षित करना था। 2002 में इस प्रोजेक्ट को पूरा कर शुरू कर दिया गया और 2004 में इसे आम जनता के उपयोग के लिए खोल दिया गया।

Dark Web कैसे काम करता है

हर एक Mobile और Computer का एक IP address होता है। इसी की मदद से आपका Internet service provider (ISP) , सरकारी एजेंसी और कोई hacker आपकी गतिविधियों पर नजर रख सकता है । इस प्रकार IP address , इंटरनेट की दुनिया मे आपकी पहचान होती है।

Dark web को Tor browser से open किया जाता है और इसमे VPN का बहुत बड़ा किरदार होता है। अगर आपके पास VPN नहीं है तब भी Dark Web को Open कर सकते है क्योंकि इसमे पहले से कुछ VPN दिए हुए होते है।

जैसा की हमने बताया की जब भी आप किसी Website को चलाते हो तो उसके server के पास हमारी IP Address चली जाती है जिसकी मदद से हमे track किया जा सकता है जैसे हमारा ISP (internet service provider) , Location , Device आदि की जानकारी।

इसलिए dark web चलाने के लिए पहले Tor browser को download करे फिर उसको install करे। इसके बाद उसको connect करना होता है जिसके बाद आपकी IP बदल जाएगी अगर doubt रहता है तो इसको आप check भी कर सकते है Test network setting पर click करके। जिससे आपको पता लग जाएगा की आपका IP बदल गया या नहीं। इसके बाद अगर आपको किसी website का URL पता है तो उसको आप Access कर सकते है।

Dark websites के extension मे .Onion होता है जो की highly encrypted domain है । जैसे onion की बहुत सारी परते layers होती है वैसे ही इसमे होता है ।

NOTE:- Tor browser को हमेशा official websites से ही download करना चाहिए , Duplicate Tor browser आपके लिए समस्या पैदा कर सकते है।

लेकिन अगर हम VPN ( Virtual Private Network ) का use करके किसी भी Website को Visit करते है तो उसके पास हमारी Real IP नहीं जाएगी बल्कि उस VPN की IP जाएगी |इस तरह से हमें Track करना मुश्किल हो जाता है, क्यूंकी Tor Browser मे हर 5 से 10 मिनट मे VPN बदलता रहता है जिससे user की IP भी बदलती रहती है। यह सब Tor Browser की सहायता से किया जाता है।

Dark web मे login करना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको कुछ सावधानिया बरतनी पड़ेंगी,

  • सबसे पहले अपनी पहचान को गुप्त रखे वरना आपको दिक्कत हो सकती है , दूसरा एक secure VPN service का इस्तेमाल करे जो आपकी पहचान को hackers से सुरक्षित रखेगा, जैसे Nord VPN, Strong VPN, HideMyIP,, Cactus VPN, Keypard VPN, HideIPVPN । Dark websites को सर्च करने के लिए एक search engine की जरूरत पड़ेगी, आप चाहे तो GRAM search engine का इस्तेमाल कर सकते है।
  • जब आप Tor browser इंस्टॉल कर ले, उसके बाद अपनी सब apps और programme बंद कर दे जिससे आप आसानी से इससे चला सके ।
  • डार्क वेब से कई प्रकार के वायरस आपके Device को इन्फेक्ट कर सकते है, इसलिए इस बात का हमेशा ध्यान रखे डार्क वेब से कोई भी फाइल डाउनलोड न करें वरना पल भर मे आपका पूरा data चोरी हो जाएगा।

कैसे Dark Web को access करना खतरनाक हो सकता है

सच मे Dark Web को चलाना बहुत ही खतरनाक होता है, hackers हमेशा नए नए लोगों को देखते रहते है इसलिए इसको चलाने के लिए कुछ ध्यान रखना होगा।

Viruses

कुछ websites आपकी device को इन्फेक्ट कर सकती है virus से , क्यूंकी इन websites पर viruses मौजूद होते है। इसलिए इन websites से कोई भी file download न करे।

Hackers

Dark web मे ऐसे बहुत से hacker forum है , जहा पर आप hackers को illegal activities के लिए hire कर सकते हो। लेकिन की बार इन hackers से बात करने मे user को प्रॉब्लेम हो जाती। इसलिए कभी भी किसी से बात न करे वरना आपका system कभी भी hack हो सकता है।

Webcam/Camera hacking

इसमे कई बार आपको कोई software download करने को कहा जाएगा जैसे की “RAT” कहा जाता है उससे वो आपके webcam को को अपने कंट्रोल मे कर लेते है । और उससे वो आपकी हर activity पर नजर रख सकते है। इसलिए dark web इस्तेमाल करते समय webcam को डक कर रखे ।

कभी भी tor browser मे अपनी java script को enable न करे। Dark Web hacker का घर है जो हर समय तैयार बैद रहते है कब कोई मिले जिसको वो ठग सके। इसलिए वो मौका मिलते ही आपके फोन कंप्युटर मे घुस जाते है और आपकी सभी इम्पॉर्टन्ट इनफार्मेशन उनक पास चली जाती है। जिसके बाद पुलिस भी आपको नहीं बचा सकती।

मुझे उम्मीद है आपको हमारे इस लेख पर Dark Web के बारे पूरी जानकारी मिल गई होगी , मैं आशा करता हूँ की इस लेख को पढ़ने के बाद आपको दूसरी websites पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जिससे आपका कीमती समय भी बचेगा। यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubt है या आप चाहते है की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं। आपका दिन मंगलमय हो।

Leave a Reply

Back to top button