Health

सेब एक चमत्कारिक फल, क्या आपको पता है ये बातें?

जिसे हम आम बोल चाल की भाषा मे सेब कहते हैं उसे वैज्ञानिक भाषा में ‘मेलस डोमेस्टिका’ (Melus domestica) कहा जाता है। सेब एक फल तो है ही लेकिन क्या आप जानते हैं कि सेब का इस्तेमाल आप औषधि के रूप में भी कर सकते हैं? आइए जानते हैं सेब के बारे मे कुछ बहुत महत्त्वपूर्ण जानकारी – इसका सेवन, खाने का सही समय और बहुत कुछ ।

रोजाना एक सेब का सेवन करने से व्यक्ति निरोग और सद्य जवान दिखता है । एक 200 ग्राम सेब में आपको लगभग 14% कार्बोहाइड्रेट, 2% फाइबर, 6% पोटैशियम, 5% विटामिन K,  8 % विटामिन C और 2% से 4% मैंगनीज, कॉपर, विटामिन A, विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन B6 और विटामिन E मिलता है।

apple-benefits-and-side-effects
सेब के फायदे और नुकसान

सेब में अधिक मात्रा में पॉलीफेनोल्स होते हैं, जो एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं। पॉलीफेनोल्स हमारी तंत्रिकाओ मे ऑक्सीकरण को कम करने में मदद करते हैं जिसके परिणामस्वरूप हृदय रोग का खतरा कम होता है। ये पॉलीफेनोल्स सेब के छिलके के साथ-साथ गुददे में भी पाए जाते हैं, इसलिए सबसे बड़ी मात्रा में लाभ पाने के लिए सेब के छिलके का भी सेवन करें ।

सेब के फायदे:

सेब में पोषक तत्त्वों की भरमार होती है, और यही वजह है कि ज्यादातर स्वास्थ्य विशेषज्ञ रोज एक सेब खाने की सलाह देते हैं। बहुत से लोग सेब का जूस पीना पसंद करते हैं। आयए जानते हैं की सेब हमे विभिन्न रोगों में किस तरह लाभ दे सकता है :

त्वचा रोग –

  • सेब के पत्तों का लेप या वृक्ष की जड़ को पीसकर लगाने भर से ही त्वचा रोग जैसे दाद-खाज-खुजली ठीक हो जाते हैं।
  • सेब हमारी त्वचा को जानदार बनाने मे बहुत कारगर है। यह मेलेनिन की मात्र को भी नियंत्रित करके रखता है और चेहरे से झाइयाँ दूर हटाता है।
  • सेब का इस्तेमाल एक बेहतरीन फेस पैक के रूप में भी किया जा सकता है:
    • 2 चम्मच सेब का जूस, 2 चम्मच गुलाब जल, 1 चम्मच मलाई और 1 चम्मच चंदन पाउडर का अच्छे से पेस्ट बना ले और चेहरे पे लगा कर 15 मिनट के लिए रखकर गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

याददाश्त बढ़ाने में सेब की भूमिका –

हम में से काफी लोगों की शिकायत होती है की हम चीजें भूल जाते हैं। विद्यार्थी परेशान होते हैं की मेहनत से जो भी याद करो परीक्षा तक याद नहीं रहता। इस परेशानी का सबसे याचा इलाज है सेब का मुरब्बा जिसको खाने से दिमाग की कोशिकाएँ स्वस्थ होती हैं तथा यह हृदय को भी मज़बूत बनाता है।

खांसी में लाभ

मौसम में बदलाव के कारण लोग खांसी से बहुत परेशान होते हैं , लेकिन यह परेशानी काम हो सकती है अगर आपके पास सेब उपलब्ध है। 1 गिलास सेब के रस में मिश्री मिलाकर सुबह सेवन करने से सुखी खांसी में राहत मिलती है।

कमजोर आंखों के लिए –

सेब में भरपूर मात्र में एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन-सी, फाइबर और विटामिन-बी पाया जाता है। सेब के नियंत्रित उपयोग से रात के वक्त कम दिखने की दिक्कत में लाभ होता है नियमित उपयोग से रात को कम दिखाई देने की परेशानी में लाभ होता है। अन्य नेत्र संबंधी परेशानियाँ जैसे— मोतियाबिंद, ग्लूकोमा आदि में भी सेब लाभदायक सिद्ध है। आँखों मे जलन की समस्या के लिए सेब को पीसकर, पका लें और लेप को आँखों में बांधने से आराम मिलता है।

कैंसर

सेब के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण शरीर में फ्री रेडिकल्स की मात्र को कम करते हैं और कैंसर को बढ़ने हैं रोकते हैं । सेब शरीर में डिटॉक्सिफाइंग एंजाइम को बढ़ाता है जो कैंसर से लड़ने में मदद करता है ।

मधुमेह

वैज्ञानिक शोध के अनुसार, रोजाना 1 सेब के सेवन से मधुमेह का खतरा काम किया जा सकता है। सेब में पाए जाने वाला फाइबर शरीर से खराब कोलेस्ट्रोल (LDL) को कम करअच्छे कोलेस्ट्रोल (HDL) को बढ़ाने में मदद करता है।

खून में आयरन की कमी

सेब में भरपूर मात्र में आयरन पाया जाता है। आयरन, हमारे रक्त में उपस्थित एक महत्त्वपूर्ण खनिज माना जाता है क्यूंकि यह हमारे शरीर में लाल कोशिकाओ के लिए बेहद जरूरी हीमोग्लोबिन नामक प्रोटीन को बनाता है, जो की रक्त के माध्यम से फेंफड़ों द्वारा ऑक्सीजन का पूरे शरीर में संचार करता है।

सेब के बारे में कुछ जरूरी बातें –

जैसा की आप सब जानते हैं की हर चीज़ की अति नुकसानदायक होती है उसी प्रकार सेब की अति भी नुकसान दे सकती है –

  • शोधकर्ताओं की मानें तो ऐसा पाया गया है कि सेब के बीज का सेवन हानिकारक होता है। सेब के बीज के अन्दर साइनाइड नामक पदार्थ होता है जो पाचन प्रक्रिया में तकलीफ देता है।एक शोध के अनुसार, एक कप सेब के बीज में इतनी मात्र साइनाइड होती है की किसी की मृत्यु भी हो सकती है।
  • जिन्हें बादाम, बेर आड़ू और स्ट्रॉबेरी खाने से ऐलर्जी होती है, वे सेब उन्हें सेब खाने से पहेले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले।
  • सेब का सिरका तासीर में अम्लीय यानि एसिडिक होता है जिसके कारण, दांतों को नुकसान भी हो सकता है। इसिलए वैज्ञानिक सलाह देते हैं की सेब के सिरके का सेवन हमेशा पानी के साथ ही किया जाए ।

यदि आप सेब से ज़्यादा से ज़्यादा फायदा पाने चाहते हैं तो इसका सही समय और सही मात्रा जान लें:

  • सेब का सेवन नाश्ते में या दोपहर में ही करें।
  • रात को सेब न खाएँ।
  • सेब के सेवन के बाद दांत अवश्य साफ करें।
  • दिन में कोशिश करें की 1 ही सेब का सेवन किया जाए
  • बीज का सेवन न करें।
  • सेब के जूस से ज्यादा फायदेमंद सेब खाना होता है। क्योंकि इसके रेशे भी बहुत लाभ देते है जो juice में नहीं होते।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button