Auto Mobile

अलॉय व्हील या स्पोक व्हील? जानिए दोनों मे से कौनसा बेहतर है

आज हम आपको पूरी तरह से बताएगे कि अलॉय व्हील और स्पोक व्हील मे क्या अंतर होता है और इनके फायदे नुकसान क्या क्या है। तो बने रहे हमारे साथ।

Spoke vs Alloy Wheels
Spoke vs Alloy Wheels

आज जो हमारी कार और मोटरसाइकिल बनाने वाली कंपनिया है वो पुराने जमाने मे स्पोक व्हील मोटरसाइकिल मे और सिम्पल व्हील कारों मे डालकर देती थी। लेकिन जेसे ही जमाना बदला तो ट्रैड भी बदल गया तब जाकर शुरुआत हुई कार और मोटरसाइकिल मे अलॉय व्हील डालने की ताकि कार और मोटरसाइकिल को स्टाइलिश और व्हील को मजबूत बनाया जा सके। लेकिन आज भी कुछ लोग स्पोक व्हील को ज्यादा पसंद करते है। खेर इस बात को साइड करते है और बात करते है अलॉय व्हील और स्पोक व्हील के बारे मे।

अलॉय व्हील

alloy wheels
अलॉय व्हील

देखिए जो आपको चित्र दिखाया गया है उन्हे अलॉय व्हील कहते है। यह दिखने मे काफी अच्छे लगते है और काफी स्टाइलिश व मजबूत भी होते है। क्योंकि इनमे कही भी जुड़ाव नहीं होता और यह मैग्नीशियम व एल्यूमीनियम से मिलकर बने होते है। आजकल लगभग सभी कंपनिया अलॉय व्हील का इस्तेमाल करती है चाहे वह कार बनाने वाली हो या मोटरसाइकिल। अब जान लेते है अलॉय व्हील के फायदे और नुकसान के बारे मे

अलॉय व्हील के फायदे

  • अलॉय व्हील हल्के और मजबूत होते है
  • चोड़े टायरो मे आसानी से फिट हो जाते है कोई समस्या नहीं आती
  • अलॉय व्हील को ट्यूबलेस भी बनाया जा सकता है
  • अलॉय व्हील मोटरसाइकिल या कार मे हैंडिलिंग बेहतर बना कर रखता है
  • अलॉय व्हील मे आपको अपनी पसंद के डिजाईन देखने को मिल जाते है

अलॉय व्हील के नुकसान

  • अलॉय व्हील एक बार डैमिज हो जाए तो ठीक होने की संभावना कम रहती है
  • स्पोक व्हील के मुकाबले ज्यादा महंगे होते है
  • अलॉय व्हील एक बार टूट जाए तो आपको नए ही लगवाने पड़ते है
  • अलॉय व्हील ऑफ रोड़िग सही से करने मे सक्षम नहीं होते
  • अलॉय व्हील का ब्रेक ड्रम जल्दी घिस जाता है जिसके बाद उन्हे बदलना ही पड़ता है

अलॉय व्हील की बाते तो बहुत हो गई अब बात करते है स्पोक व्हील की

स्पोक व्हील

spoke wheels
स्पोक व्हील

जो आपको चित्र मे व्हील दिख रहे है उन्हे ही स्पोक व्हील कहते है। ये दिखने मे ठीक-ठाक ही लगते है ओर वजन मे अलॉय व्हील से ज्यादा भारी भी होते है क्युकी ये स्टील से जो बने होते है। पुराने जमाने मे सभी कंपनिया मोटरसाइकिल के अंदर हमे यही स्पोक व्हील डालकर देती थी और इस स्पोक व्हील मे रिम हब के साथ बहुत सारे वायर स्पोकस के साथ जुड़ा हुआ होता है। इस हिसाब से स्पोक व्हील मे बहुत सारे जॉइन्टस होते है।

स्पोक व्हील के फायदे

  • ऑफ रोडिग वाले बाइको मे स्पोक व्हील बेहतर काम करते है
  • अलॉय व्हील से स्पोक व्हील काफी सस्ते होते है
  • स्पोक व्हील का ड्रम घिस जाए तो अलग से बदल जा सकता है जिसमे कम खर्चा आता है
  • स्पोक व्हील मे डेन्ट आने पर आप इसे ठीक करवा सकते है व्हील को बदलने की जरूरत नहीं पड़ती

स्पोक व्हील के नुकसान

  • स्पोक व्हील वजन मे काफी भारी होते है
  • इन्हे बनाने में वर्कर की जरूरत पड़ती है जिससे कंपनी को इन्हे बनाने मे काफी समय लगता है
  • स्पोक व्हील चोड़े टायरो मे सही से फिट नहीं होते
  • इन्हे ट्यूबलेस भी बहुत कम बनाया जा सकता है
  • स्पोक व्हील मे ज्यादा वजन होने के कारण ये बाइक को भारी कर देते है
  • स्पोक व्हील का क्रोम कुछ समय बाद उतर जाता है जिससे ये काफी भद्दे दिखाई देते है

तो अब हमे लगता है की आपको अलॉय व्हील और स्पोक व्हील मे अंतर समझ आ गया होगा। अब आप खुद तय कर सकते है कि आपके मोटरसाइकिल या कार के लिए कौनसा व्हील सही रहेगा । हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगी हमे जरूर बताए

Leave a Reply

Back to top button